Please set up your API key!

Himachal Aajkal

हम किसी की सीमाओं में नहीं देते दखल, न ही किसी की स्वायत्ता पर हमारी नजर

 Breaking News

हम किसी की सीमाओं में नहीं देते दखल, न ही किसी की स्वायत्ता पर हमारी नजर

हम किसी की सीमाओं में नहीं देते दखल, न ही किसी की स्वायत्ता पर हमारी नजर
January 09
13:40 2018

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के विज्ञान भवन में मंगलवार को प्रवासी सांसदों के पार्ल्यामेंट्री कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। इस संबोधन में प्रधानमंत्री ने एक तरफ जहां अपनी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा की, वहीं उन्होंने भारतीय मूल्यों और आदर्शों का भी जिक्र किया।

प्रधानमंत्री ने बिना पूर्ववर्ती सरकारों के नाम लिए ही उन पर इशारों में ही निशाना भी साधा। प्रधानमंत्री ने प्रवासी भारतीयों के योगदान का जिक्र करते हुए कहा कि हम किसी की सीमाओं में दखल नहीं देते और न ही किसी और की स्वायत्ता पर हमारी नजर है। हमारा फोकस अपनी क्षमताओं के विस्तार और अपने संसाधनों के अधिकतम उपयोग पर रहा है।

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि उनकी सरकार में प्रवासियों की समस्या को गहराई से समझा गया और इसके लिए विदेश मंत्रालय ने बहुत अच्छा काम किया है। प्रधानमंत्री ने प्रवासी भारतीयों के देश से लगाव का जिक्र करते हुए कहा कि प्रवासी भारतीय भले ही चले गए हों या जाना पड़ा लेकिन अपनी मिट्टी और आत्मा का एक अंश यहीं छोड़ गए।

आज जब आप भारत के किसी एयरपोर्ट पर उतरते हैं तो उस वक्त आत्मा का एक अंश महसूस करते हैं। आपकी आंखें नम हो जाती हैं, गला रूंध जाता है और उनमें भारत आने की एक चमक महसूस होती है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि भारत का प्रतिनिधित्व प्रवासी भारतीय दुनियाभर में कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि स्पोर्ट्स, आर्ट, सिनेमा ऐसे क्षेत्र हैं जहां भारतीय मूल के लोगों ने अपनी छाप ग्लोबल प्लेटफॉर्म पर छोड़ी है। आज भारतीय मूल के लोग मॉरीशस, पुर्तगाल, आयरलैंड में प्रधानमंत्री है। गयाना के पूर्व राष्ट्रपति भरत जगदेव हमारे बीच मौजूद हैं। आप सभी देश के लोग अपने-अपने देशों में प्रमुख राजनीतिक भूमिका अदा कर रहे हैं।

Share

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Write a Comment